Monday, March 18, 2013

एयर इंडिया के सभी सुरक्षा अधिकारी फेल !

विदेशों में सुरक्षा ऐसे होती है !
सुबह अखबार की एक खबर ने नींद उड़ा दी। हवाई अड्डों की सुरक्षा व्यवस्था परखने के लिए व्यूरो आफ सिविल एवीएशन सिक्योरिटीज यानी बीसीएएस ने एयर लाइंस के अफसरों की परीक्षा ली, इस परीक्षा में एयर इंडिया के सभी 21 सीनियर अफसर फेल हो गए। इसके अलावा स्पाइस जेट के 4 और डायल के 18 अधिकारी भी फेल हो गए। ये हाल तब है जब हैदराबाद ब्लास्ट के बाद पूरे देश में रेड अलर्ट घोषित है, इसके तहत हवाई अड्डों की तो खासतौर पर चौकसी बढ़ाई गई है। आसानी से समझा जा सकता है कि जब अलर्ट के दौरान ये हाल है तो सामान्य दिनों में तो भगवान ही मालिक है। 

आपको बता दूं कि हवाई अड्डों की सुरक्षा को लेकर केवल भारत सरकार ही नहीं बल्कि दुनिया भर की सरकारें काफी गंभीर रहती हैं। क्योंकि कहीं भी अगर कोई लापरवाही हो गई तो हवाई जहाज के जरिए संदिग्ध व्यक्ति कहीं भी जा सकता है। इसलिए  विभिन्न एयbfर लाइंस की सिक्योरिटी विंग और सीआईएसएफ  के अधिकारियों को सुरक्षा संबंधी जिम्मेदारी सौंपने के पहले एक 15 दिन की परीक्षा ली जाती है। जिससे ये पता चल सके कि जिन अफसरों को लगाया गया है वो सुरक्षा संबंधी नियमों और बारीकियों से वाकिफ हैं या नहीं। 

हैरानी की बात ये है कि कुछ दिन पहले हुई परीक्षा में एयर इंडिया के 21 अफसर शामिल हुए, जिसमें सभी फेल हो गए। डायल एयरलाइंस के 20 अफसरों में 18 फेल हो गए, जबकि स्पाइस जेट के 7 अफसरों मे चार फेल हो गए। सबसे बड़ी बात कि सभी हवाई अड्डों की सुरक्षा इन दिनों सीआईएसएफ के पास है, इसके 35 अफसरों ने परीक्षा दी, जिसमें 22 फेल हो गए। परीक्षा में खासतौर पर टर्मिनल के प्रवेश और निकास, इन लाइन बैगेज सिस्टम, फ्रिक्सिंग, एक्सरे और बोर्डिंग गेट आदि शामिल हैं। आप जानते ही हैं कि इनमें से कहीं भी चूक हुई तो उसके कितने गंभीर परिणाम हो सकते हैं।

इसके पहले एक परीक्षा आठ से 21 जनवरी 13 के बीच हुई थी। इसमे एयर इंडिया, इंडिगो, स्पाइस जेट और सीआईएसएफ के कुल 103 सुरक्षा अधिकारी शामिल हुए। पता है 103 में 97 अफसर फेल हो गए। जब हवाई अड्डे की सुरक्षा का ये हाल है तो आप यहां रेलवे स्टेशन या फिर बस स्टेशन की सुरक्षा व्यवस्था का हाल आसानी से समझ सकते हैं। मुझे लगता है कि अब सुरक्षा का मामला वाकई भगवान के हवाले कर देना चाहिए, कहां तक इतना टेंशन लेकर सफर किया जाएगा। मैं कुछ तस्वीरें दे रहा हूं, जिससे आपको आसानी से समझ मेंआ जाएगा  कि विदेशो में इस मसले को लेकर सिक्योरिटी कितनी गंभीर है। विदेशियों की सुरक्षा के मुकाबले अगर हम अपने एयरपोर्ट पर तैनात अफसरों और कर्मचारियों की तस्वीर  दिखाएं तो हम खुद ही समझ जाएंगे कि हमारी सुरक्षा वर्ल्ड क्लास है ही  नहीं। 

सीआईएसएफ का जवान एके 47 लेकर ऐसा दिखाई देगा, जैसे वो अभी आतंकियों की धर पकड़ कर उन्हें सबक सिखाने को तैयार बैठा है। पर सच बताऊं  मौका पड़ने पर पता नहीं उसकी ये एके 47 चलेगी भी या नहीं इसे लेकर भी संदेह है। चलिए जरा ये तस्वीर देखिए भारतीय जवान की। 




 देखिए ! बेचारा खड़ा भी नहीं हो पा रहा !











ये विदेशी सुरक्षा जांच है ...







देखिए कितनी गंभीरता है सुरक्षा जांच में !








ऐसी जांच हो तभी अनहोनी से बच सकते  हैं !












  माफ कीजिएगा, ये कुंभ स्नान की तस्वीर नहीं है। एयर पोर्ट पर ही सुरक्षा कारणों से लोगों ने जांच के लिए कपड़े उतारे हैं। पुरुष हो या महिला किसी को छूट नहीं !








आपको याद होगा, अमेरिका में  अभिनेता शाहरुख खान को सुरक्षा एजेंसियों ने रोक कर  जांच कर लिया तो   पूरे देश में हाय तौबा मच गया। इसमें ऐसी क्या बात हो गई अगर सुरक्षा एजेंसी ने किसी को रोक कर जांच कर लिया ? मुझे लगता है कि विदेशियों से ये सीखना  चाहिए, बेवजह का स्वाभिमान ठीक नहीं, खासतौर पर सुरक्षा के मामले में। हमें खुद आगे आना चाहिए और एंजेसियों का सहयोग करना चाहिए। 








12 comments:

  1. देश की सुरक्षा को लेकर हम लोग इतना सोचते है ..तो ये बात सुरक्षा करने वाले जवानों को क्यों नहीं समझ आती ....मुद्दा सच में गंम्भीर है और देश की सुरक्षा का है ...सावधान होना जरुरी है

    ReplyDelete
    Replies
    1. बिल्कुल, ये सुरक्षा का मुद्दा है, इस पर तो गंभीर होना ही होगा..

      Delete
  2. suraksha se hame koi samjhauta nahi karna chahiye, tabhi desh me ho rahi atanki ghatnao par rok lagegi.

    ReplyDelete
    Replies
    1. जी बिल्कुल
      सुरक्षा का विषय गंभीर है, इससे समझौता करना खतरनाक होगा

      Delete
  3. महेन्द्र सर आपकी सभी बातों से सहमत हूं
    एयर इंडिया का ये हाल है.... भगवान मालिक है

    ReplyDelete
  4. सच्चाई से रु-ब-रु कराने का और दिखाने का शुक्रिया ....
    आभार !

    ReplyDelete
  5. सहमत हूँ आपसे सुरक्षा के तौर तरीकों में कोई समझौता किया ही नहीं जाना चाहिए .....

    ReplyDelete
    Replies
    1. जी, बिल्कुल।
      ये कभी गंभीर भी हो सकता है..

      Delete
  6. vaakai aankhen kholane vali khabar hai...

    ReplyDelete
    Replies
    1. जी, सच में ये गंभीर विषय है..

      Delete